जुदा होके भी तू मुझमें कही बाकी है
पलकों में बनके आंसू तू चली आती है
जुदा होके भी

वैसे जिंदा हु जिन्दगी बिन तेरे मैं
दर्द ही दर्द बाकी रहा है सीने में
साँस लेना भर ही याहा जीना नही हैं
अब तोह आदत सी है मुझको ऐसे जीने में
जुदा होके भी तू मुझमें कही बाकी है
पलकों में बनके आंसू तू चली आती है

साथ मेरे हैं तू हर पल शब् के अंधेरे में
पास मेरे हैं तू उजाले सवेरे में
दिल से धड़कन भुला देना आसन नही है
अब तोह आदत सी है मुझको ऐसे जीने में
जुदा होके भी तू मुझमें कही बाकी है
पलकों में बनके आंसू तू चली आती है

अब तोह आदत सी है मुझको ऐसे जीने में
ये जो यादें है – 2
सभी काटें है – 2
कतादो इन्हे – 2
अब तोह आदत सी है मुझको

Advertisements